Uttrakhand

महिला ने 4 वर्ष में बना डाले बेटी के 3 जन्म प्रमाण पत्र, पति की शिकायत पर अभियोग दर्ज

नैनीताल, 23 मई (Udaipur Kiran) । नैनीताल नगर के मल्लीताल क्षेत्र निवासी एक महिला के अपनी बेटी का 4 वर्षों में तीन बार नये नाम के साथ जन्म प्रमाण पत्र बनवाने का मामला सामने आया है। इस मामले में स्वयं महिला के पति द्वारा दी गयी तहरीर पर पुलिस ने आरोपित महिला के विरुद्ध अभियोग दर्ज कर लिया है।

मूल रूप से बरेली के बिहारीपुर निवासी और वर्तमान में अमेरिका में रहने वाले हारून रशीद ने जनपद के एसपी को शिकायती पत्र भेजकर कहा है कि जुलाई 2011 में उसका विवाह पिलग्रिम लॉज मल्लीताल निवासी उजमा सिद्दीकी के साथ हुआ था। 2012 में पत्नी ने बरेली के एक नर्सिंग होम में एक पुत्री को जन्म दिया। नगर निगम बरेली ने बच्ची का जन्म प्रमाण पत्र जारी किया था। लेकिन 2014 में पत्नी ने एसडीएम कार्यालय से आदेश बनवाकर बेटी का नाम परिवर्तन कर नया जन्म प्रमाण पत्र बना लिया और उस नाम से बेटी का शहर के एक स्कूल में प्रवेश भी करवा दिया। इसके बाद भी पुनः 2016 में पत्नी उजमा ने फिर नैनीताल से पुत्री का नाम बदलकर नया जन्म प्रमाण पत्र बना कर नाम बदल दिया। हारून जब अमेरिका से लौटा तो उन्हें मामले की जानकारी हुई। कोतवाल हरपाल सिंह ने बताया कि तहरीर के आधार पर उजमा सिद्दीकी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

(Udaipur Kiran) /डॉ. नवीन जोशी/रामानुज

Most Popular

To Top