HEADLINES

(अपडेट) छत्तीसगढ़ : नारायणपुर मुठभेड़ में आठ नक्सली ढेर, हथियार, टिफिन बम और बीजीएल सेल बरामद

बरामद सामग्री
नक्सलियों के शव

नारायणपुर, 24 मई (Udaipur Kiran) । छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले के अबूझमाड़ इलाके के रेकावाया के जंगल में अब तक आठ नक्सलियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया है। पुलिस ने शुक्रवार को सर्चिंग के दौरान भारी मात्रा में नक्सली सामग्री बरामद की है।

इंद्रावती एरिया कमेटी के डीवीसीएम दीपक कमलाकर, सपनक्का, प्लाटून नंबर 16 मल्लेश, रणिता, मधु की उपस्थिति की सटीक सूचना पर गुरुवार को पहली बार जवान नक्सल विरोधी अभियान पर यहां तक पहुंचे थे। नदी नालों की चुनौतियों को देखते हुए इस अभियान का नाम जलशक्ति दिया गया था। यहां नक्सलियों के लड़ाकू बटालियन प्लाटून नंबर 16 और इंद्रावती एरिया कमिटी के साथ हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने अबतक 08 नक्सलियों को ढेर कर दिया है। जवानों ने मुठभेड़ के बाद माड़ इलाके में नक्सलियों द्वारा चलाये जा रहे एक अस्थायी कैंप को भी ध्वस्त किया है। मौके पर बड़ी संख्या में नक्सलियों के चप्पल और जूते भी मिले हैं, जिन्हें मौके पर ही नष्ट कर दिया गया।

इसके साथ ही प्रशिक्षण से संबंधित सामान भी पुलिस ने बरामद किये हैं। कुल आठ नक्सलियों के शव के साथ एक थ्री नॉट थ्री, 315 बोर 02 नग, एक बारह बोर, चार भरमार के साथ ही टिफिन बम, वर्दी, जिंदा कुकर बम, पिट्ठू, दवाइयां, मल्टीमीटर, बीजीएल सेल आदि बरामद किये हैं।

रेकावाया के जंगल में हुई मुठभेड़ में सात नक्सलियों को ढेर करने के बाद जवान पूरी रात जंगल में ही रहे। शुक्रवार सुबह फाइनल सर्चिंग के बाद आज शुक्रवार को जब जवानों की टीम वापस मुख्यालय लौट रही थी, इसी दौरान रास्ते में एक बार फिर से नक्सलियों ने जवानों को घेरने का प्रयास किया और उन पर फायरिंग खोल दिया। आज सुबह हुई मुठभेड़ में जवानों ने एक और नक्सली को ढेर कर दिया है। इस तरह मारे गये सभी आठ नक्सलियों के शव बरामद कर लिए गये हैं। मुठभेड़ में शामिल जवानों का दावा है कि कई नक्सलियों को गोली लगने से घायल भी हुए हैं। वापसी के दौरान जवानों ने एक 15 किलो का टिफिन बम भी बरामद किया। जिसे मौके पर ही नष्ट कर दिया।

दंतेवाड़ा डीआईजी कमलोचन कश्यप ने बताया कि माड डिवीजन, बस्तर डिवीजन अंतर्गत काम करने वाले इंद्रावती एलओएस, ओरछा एलओएस, इंद्रावती एरिया कमेटी के नक्सलियों के जमावड़े की सूचना लगातार मिल रही थी। इसी सूचना पर दंतेवाड़ा, नारायणपुर और जगदलपुर से जवानो की टुकड़ियों को रवाना किया गया था। इस आपरेशन का नाम जलशक्ति दिया गया। नदी नालों की चुनौतियों को देखते इस आपरेशन को यह नाम दिया गया था। कश्यप ने बताया कि इंद्रावती एरिया कमेटी के डीवीसीएम दीपक कमलाकर, सपनक्का, प्लाटून नंबर 16 मल्लेश, रणिता, मधु की उपस्थिति की सटीक सूचना पुलिस को मिली थी।

(Udaipur Kiran) / राकेश पांडे/केशव/प्रभात

Most Popular

To Top