Bihar

किशनगंज पुलिस पर पश्चिम बंगाल में हुए हमला में सदर थानाध्यक्ष सहित दो सिपाही घायल

किशनगंज पुलिस पर पश्चिम बंगाल में हुए हमला में सदर थानाध्यक्ष सहित दो सिपाही घायल
किशनगंज पुलिस पर पश्चिम बंगाल में हुए हमला में सदर थानाध्यक्ष सहित दो सिपाही घायल
किशनगंज पुलिस पर पश्चिम बंगाल में हुए हमला में सदर थानाध्यक्ष सहित दो सिपाही घायल

किशनगंज,25 मई (Udaipur Kiran) । शहर से सटे पश्चिम बंगाल के चकलिया थानाक्षेत्र के विलायतीबारी में शुक्रवार को मक्का लूट के मामले के आरोपित को पकड़ने गई सदर पुलिस पर आरोपित पक्ष के लोगों ने हमला कर दिया।

हमले में सदर थानाध्यक्ष संदीप कुमार, प्रोबेसनर अवर निरीक्षक अंकित कुमार, तकनीकी सेल के इरफान घायल हो गए। घायल पुलिसकर्मियों का इलाज सदर अस्पताल में चल रहा था। वही बचाव में आत्मरक्षार्थ पुलिस के द्वारा हवाई फायरिंग की भी बात कही जा रही है। घटना के बाद किशनगंज पुलिस किसी तरह से मौके से निकली। इस दौरान कुछ लोगों ने पुलिस के वाहन पर भी हमला कर दिया, जिससे पुलिस का वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गया।

बताया जाता है कि 14 मई को गाछपाड़ा के पास ट्रैक्टर में लदे मक्का लूट की घटना घटी थी, जिसके आरोपित को पुलिस तलाश कर रही थी। पुलिस आरोपित का पीछा करते हुए रामपुर विलायतीबारी के पास पहुंची। पुलिस ने मौके से एक आरोपित को हिरासत में लिया।पुलिस जैसे ही आरोपित को पकड़ कर ले जाने लगी। तभी वहां मौजूद कुछ लोग पुलिस से उलझने लगे। कुछ लोग पुलिस के वाहन पर पथराव भी करने लगें। पथराव में सदर थानाध्यक्ष सहित दो पुलिसकर्मी घायल हो गए। पुलिसकर्मी किसी तरह से वहां से निकले।

एसडीपीओ गौतम कुमार ने शनिवार को बताया कि मक्का लूट मामले के आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस आरोपी का पीछा करते हुए पहुंची थी। इस दौरान आरोपी को छुड़ाने की मंशा से कुछ लोगों ने पुलिस टीम पर हमला कर दिया। हमले में तीन पुलिसकर्मी घायल हुए है।

दालकोला एसडीपीओ रतींद्र नाथ विश्वास ने बताया कि किशनगंज पुलिस को बंगाल पुलिस को सूचना देनी चाहिए।घटना की जांच की जा रही है। वहीं स्थानीय विधायक मिनाज आलम ने घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि बिहार पुलिस ने बिना बंगाल पुलिस को जानकारी दिए यहां रेड की और स्थानीय नूर आलम को पकड़कर ले गए। उसका क्या कसूर है, पता नहीं है। उन्होंने फायरिंग भी की। पुलिस ने 3 खोखा बरामद किया है।

मिनाज आलम ने कहा कि हमलोग बिहार-बंगाल के बोर्डर पर रहते हैं। हमें शांतिपूर्वक रहना होगा लेकिन, बिहार की पुलिस का यह काम तानाशाही वाला है। हम इसके खिलाफ डीएम-एसपी से शिकायत करेंगे। आगे सरकार से भी बात करेंगे।

(Udaipur Kiran) /धर्मेन्द्र/चंदा

Most Popular

To Top