RAJASTHAN

जोधपुर-उदयपुर समेत चार जिलों में आंधी-बारिश, अगले चार दिन 23 जिलों के लिए गर्मी का रेड अलर्ट

फाइल।

जयपुर, 26 मई (Udaipur Kiran) । राजस्थान में इन दिनों सूर्यदेव का रौद्र रूप लोगों पर भारी पड़ रहा है। प्रदेश में आग उगलती सूरज की किरणों के चलते सुबह से ही लू के थपेड़ों ने लोगों को झुलसा कर रख दिया है। तेज गर्मी के साथ चलती लू ने जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है। मौसम विभाग के मुताबिक अभी गर्मी से राहत मिलने के आसार नहीं है। आगामी कुछ दिनों तक भयंकर लू का दौर जारी रहेगा। राजस्थान में एक से दो डिग्री तक पारा और बढ़ेगा। अगले दो दिन प्रदेश के 23 जिलों के लिए रेड अर्लट जारी किया गया है। हालांकि 29 मई से पूर्वी राजस्थान और 30 मई से पश्चिमी राजस्थान के कुछ भागों के तापमान में तीन डिग्री की गिरावट होने की संभावना है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने 27 मई को राजस्थान के अलवर, बारां, भरतपुर, बूंदी, दौसा, धौलपुर, जयपुर, झालावाड़, झुंझुनूं, करौली, कोटा, सवाई माधोपुर, सीकर, टोंक, बाड़मेर, बीकानेर, चूरू, हनुमानगढ़, जैसलमेर, जालोर, नागौर, पाली, श्रीगंगानगर और जोधपुर के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। वहीं अजमेर, भीलवाड़ा, चित्तौड़गढ़, प्रतापगढ़, राजसमंद के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। बांसवाड़ा, डूंगरपुर, सिरोही और उदयपुर के लिए गर्मी का येलो अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग के ताजा अपडेट के अनुसार 28 मई को राजस्थान के अलवर, भरतपुर, धौलपुर, झुंझुनूं, बाड़मेर, बीकानेर, चूरू, जैसलमेर, जोधपुर, नागौर, श्रीगंगानगर जिले में अलग-अलग स्थानों पर उष्ण लहर से अति उष्ण लहर चलने की संभावना है। वहीं अजमेर, बारां, भीलवाड़ा, बूंदी, चित्तौड़गढ़, दौसा, जयपुर, करौली, कोटा, सवाई माधापुर, सीकर, हनुमानगढ़, टोंक, जालोर और पाली में उष्ण लहर चलने की संभावना है। 28 मई को झालावाड़ जिले के लिए भीषण गर्मी का येलो अलर्ट जारी किया गया है। 29 मई को बाड़मेर, जैसलमेर और जोधपुर के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया है। अलवर, बारां, भरतपुर, बूंदी, दौसा, धौलपुर, करौली, कोटा, सवाईमाधोपुर, टोंक, बीकानेर, चूरू, हनुमानगढ़, जालोर, नागौर, पाली और श्रीगंगानगर के लिए मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। जयपुर, झूंझुनूं और सीकर के लिए येलो अलर्ट जारी हुआ है।

भीषण गर्मी के बीच रविवार को दोपहर बाद अचानक मौसम बदल गया। जोधपुर, उदयपुर, पाली और चित्तौड़गढ़ में तेज आंधी शुरू हो गई। जोधपुर के लूणी में आंधी के साथ बारिश का भी दौर चला। उदयपुर के ग्रामीण क्षेत्रों में तेज हवा से पेड़ और बिजली के पोल गिर गए। लू से आज नागौर और जालोर में दो लोगों की मौत हो गई। भीषण गर्मी से चार दिन में अब तक 25 लोग जान गंवा चुके हैं। रविवार को जैसलमेर से सटे भारत-पाक बॉर्डर पर तापमान 55.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

मौसम विभाग के निदेशक राधेश्याम शर्मा ने बताया कि सेना या बीएसएफ की तरफ से तापमान नापने का क्या स्टैंडर्ड अपनाया जाता है, उस पर हम कोई कमेंट नहीं कर सकते। हमारे यहां तापमान नापने का स्टैंडर्ड विश्व मौसम संगठन द्वारा बनाए गए अंतरराष्ट्रीय मापदंडों के अनुसार है। अंतरराष्ट्रीय मापदंड के अनुसार तापमान हमेशा हवा का नापा जाता है। गर्मी का असर जानवरों पर भी देखने को मिल रहा है। उदयपुर में तीन दिन में करीब 300 चमगादड़ों की मौत हो चुकी है। बढ़ती गर्मी के साथ हीटवेव की चपेट में आ रहे मरीजों की संख्या भी बढ़ गई है। सरकारी रिकॉर्ड के मुताबिक, प्रदेश में इस सीजन में अब तक 2243 रोगी हीट स्ट्रोक के आ चुके हैं। विभाग का दावा है कि इनमें से किसी भी मरीज की मौत नहीं हुई। हेल्थ डिपार्टमेंट की एसीएस शुभ्रा सिंह ने बताया कि इस सीजन में प्रदेश के अलग-अलग अस्पतालों के इमरजेंसी वार्ड में 82 हजार से ज्यादा मरीज आए हैं, जिनमें से 2243 रोगी हीट स्ट्रोक के थे।

तेज गर्मी के बीच उदयपुर जिले में दोपहर बाद अचानक मौसम बदल गया। जिले के बंबोरा कस्बे में करीब 20 मिनट तक तेज हवा के साथ बारिश हुई। इस दौरान पेड़ और बिजली के पोल गिर गए। जोधपुर के लूणी में दोपहर बाद अचानक तेज आंधी का दौर शुरू हुआ। इसके कुछ देर में ही तेज हवाओं के साथ बारिश भी शुरू हो गई। तेज हवा की वजह से टीन शेड उड़ गए और पेड़ भी गिर गए, जिससे काफी नुकसान हुआ। जालोर में लू से एक व्यक्ति की मौत हो गई। टैक्सी यूनियन के सुनील कुमार ने बताया कि 60 साल के सवाराम को बुखार था। दोपहर में अचानक तबीयत बिगड़ी तो उसे जालोर के हॉस्पिटल लेकर पहुंचे। जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। डॉ. रमेश चौधरी का कहना है कि उसे हॉस्पिटल लेकर पहुंचे, तब तक मौत हो चुकी थी। वह शराब के नशे में भी था। मौत कैसे हुई, इसे लेकर अभी कुछ नहीं कह सकते। नागौर के गच्छीपुरा में तैनात ट्रैकमैन धर्माराम धायल की रविवार को तेज धूप में काम करते समय तबीयत बिगड़ गई।

सीकर में गर्मी का असर काफी तेज है। जिले के रानोली शिशु गांव में गाय और भैंसों के लिए कूलर लगाया गया है ताकि गर्मी से इन्हें थोड़ी राहत मिले। उदयपुर के एमबी हॉस्पिटल में मरीजों के साथ आने वाले परिजन के लिए टेंट लगाया गया है। यहीं पर कूलर और पानी की व्यवस्था भी की गई है।

जैसलमेर में भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर गर्मी का कहर जारी है। बीएसएफ के जवानों का एक वीडियो सामने आया है। इसमें वे जिप्सी के बोनट पर रोटी सेकते हुए नजर आ रहे हैं। यहां इतनी भीषण गर्मी है कि रेत में पापड़ भी सिक गए। उदयपुर शहर के मेनार के ब्रह्म सागर तालाब की पाल स्थित आम के पेड़ों पर डेरा डाले चमगादड़ों की मौत हो रही है। शुक्रवार को करीब 200 चमगादड़ों की मौत हो गई थी। रविवार को भी करीब 100 चमगादड़ों की जान चली गई।

(Udaipur Kiran) /रोहित/ईश्वर

Most Popular

To Top