Gujarat

सूरत : 39 मदरसों में सर्वे कार्य पूरा, 69 बच्चे बिहार-यूपी के मिले

मदरसा

-मदरसों में पढ़ रहे बच्चों की उम्र 6 से 14 वर्ष

सूरत, 23 मई (Udaipur Kiran) । धार्मिक शिक्षा देने वाले मदरसों में प्राथमिक शिक्षा के संबंध में राज्यव्यापी सर्वे के तहत सूरत शहर और जिले के 39 मदरसों का सर्वे किया गया। जिला शिक्षा अधिकारी की अलग-अलग टीमों के सदस्यों ने तीन दिनों के दौरान यह सर्वे कार्य पूरा किया। सर्वे में कई तरह की जानकारी सामने आई है, जिसमें पता चला है कि इन मदरसों में 69 बच्चे बिहार-यूपी के हैं, जो सूरत आकर धार्मिक शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं।

पिछले तीन दिनों में सूरत शहर और तहसीलों के 39 मदरसों का सर्वे कार्य पूरा किया गया। सर्वे के दौरान कुल 802 बच्चों के यहां धार्मिक शिक्षा लेने की जानकारी मिली है। जांच के दौरान 69 बच्चों के बारे में पता चला कि वे मदरसों की शिक्षा के अलावा अन्य किसी तरह की पढ़ाई से नहीं जुड़े हैं, यानी उन्हें प्राथमिक शिक्षा नहीं मिल रही है। ये सभी बच्चे स्कूल नहीं जाते हैं। बच्चों के मौलवी बनने के लिए इन मदरसों में आने की प्राथमिक जानकारी है। सूरत में प्राथमिक धार्मिक शिक्षा लेने के बाद यह बच्चे अन्य राज्यों में आगे की धार्मिक शिक्षा के लिए जा सकते थे। मदरसा के रखरखाव के लिए रजिस्टर में विद्यार्थियों का सिर्फ नाम लिखा गया है। इस वजह से इनके अभिभावकों से सम्पर्क करने के लिए शिक्षा विभाग को कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है। मदरसों में मस्जिद होने की भी जानकारी मिली है। सर्वे टीम को मदरसों के कागजात उर्दू में होने से इसे समझने में भी कठिनाई का सामना करना पड़ा है।

(Udaipur Kiran) / बिनोद

Most Popular

To Top