Uttrakhand

वर्चुअल माध्यम से स्मृति ने उत्तराखंड की 3 परियोजनाओं को लोकार्पण और शिलान्यास किया : जोशी

Smriti Irani inaugurated and laid the foundation stone of 3 projects of Uttarakhand through virtual medium: Ganesh Joshi

देहरादून, 10 मार्च (Udaipur Kiran) । प्रदेश के कृषि मंत्री गणेश जोशी ने रविवार को सचिवालय सुभाष चंद्र बोस बिल्डिंग भूतल में बीडीपी के अन्तर्गत केन्द्रीय अल्पसंख्यक मामलों की मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी की अध्यक्षता में वर्चुअल माध्यम से आयोजित लोकार्पण एवं शिलान्यास कार्यक्रम में प्रतिभाग किया गया।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने अन्य 05 राज्यों के साथ-साथ उत्तराखंड राज्य के लिए भी 03 परियोजनाओं (कुल लागत रु.15.1362 करोड़) पंद्रह करोड़ तेरह लाख 62 हजार की लागत का वर्चुअली शिलान्यास किया। उत्तराखंड में इन तीन स्वीकृत परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया, जिसमें (स्वीकृत लागत रुपये 3.4819 करोड़) डा. भीमराव आम्बेडकर बौद्ध समुदाय बाहुल्य क्षेत्रान्तर्गत बहुद्देश्यीय सभागार और पुस्तकालय का निर्माण, 123/ डीएल रोड, देहरादून। बौद्ध समुदाय बाहुल्य क्षेत्रान्तर्गत बहुद्देश्यीय सभागार का निर्माण, लखनवाला, देहरादून। (स्वीकृत लागत रुपये 6.5679 करोड़)। बौद्ध समुदाय बाहुल्य क्षेत्रान्तर्गत शैक्षिक एवं कीड़ा सभागार का निर्माण, 223/डीएल रोड, देहरादून। (स्वीकृत लागत रु. 5.0864 करोड़) शामिल है।

प्रदेश के कृषि मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि हिमालयी बेल्ट को विकसित करने का जो सपना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का था, वह साकार हो रहा है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का आभार भी व्यक्त किया। उन्होंने कहा कहा कि हमारी सरकार की प्रतिबद्धताओं के अनुरूप अल्पसंख्यकों के कल्याण एवं उनके जीवन स्तर में सुधान को सर्वोच्च प्राथमिकता प्रदान की जा रही है। विभिन्न विकास योजनाओं से इन वर्गों के लोगों के आर्थिक, सामाजिक एवं शैक्षिक उत्थान हेतु शिक्षा, गरीबी रेखा से ऊपर उठाना, कौशल सुधार एवं स्वरोजगार के लिए आर्थिक सहायता आदि योजनाओं के द्वारा अल्पसंख्यक वर्ग के लोगों का सर्वांगीण विकास करने का प्रयास किया जा रहा है।

इस अवसर पर एल.फेनई, प्रमुख, सचिव, अल्पसंख्यक कल्याण, राजेन्द्र कुमार, निदेशक, अल्पसंख्यक कल्याण, हीरा सिंह बसेड़ा, उप सचिव, अल्पसंख्यक, कल्याण जेएस रावत, जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी, देहरादून, सीपीएस रावत, परियोजना प्रबन्धक, उत्तराखंड पेयजल निर्माण इकाई (कार्यदायी संस्था), बौद्ध समाज के अनेक प्रतिनिधियों के साथ डा. जितेन्द्र सिंह बुटोइया, हरज्ञान सिंह आदि उपस्थित थे।

(Udaipur Kiran) / साकेती/रामानुज

Most Popular

To Top