RAJASTHAN

पांचवीं और आठवीं का परिणाम जारी, वेबसाइट क्रेश, अब शाम को परिणाम देख पाएंगे छात्र

परिणाम जारी करते शिक्षा विभाग के शासन सचिव कृष्ण कुणाल।

जयपुर, 30 मई (Udaipur Kiran) । राजस्थान के सरकारी और निजी स्कूल से जुड़े करीब 27 लाख छात्रों का इंतजार गुरुवार को खत्म हो गया है। शिक्षा विभाग ने दोपहर में जयपुर में पांचवीं और आठवीं कक्षा का परिणाम जारी कर दिया है। जयपुर शिक्षा संकुल में शिक्षा सचिव कृष्ण कुणाल ने परिणाम जारी किया है, लेकिन तकनीकी कारणों से काफी देर तक वेबसाइट पर अपलोड नहीं हो सका।

परिणाम जारी होने के बाद अब तक वेबसाइट पर अपलोड नहीं हो पाया है। तकनीकी खामी के बाद वेबसाइट क्रेश हो गई। शिक्षा विभाग के अधिकारी साइट ठीक करने में जुटे हैं। छात्र शाम छह बजे बाद परिणाम देख पाएंगे। तकनीकी खामी के बाद शासन सचिव ने ऑफलाइन परिणाम जारी किया है। कक्षा पांच में 14 लाख 35 हजार 696 परीक्षार्थी शामिल हुए थे। इनमें से 13 लाख 93 हजार 423 परीक्षार्थी पास हुए। कुल परीक्षा परिणाम 97.06 प्रतिशत रहा। राजकीय विद्यालयों का परीक्षा परिणाम 96.79 प्रतिशत रहा। वहीं, निजी विद्यालयों का परीक्षा परिणाम 97.40 प्रतिशत रहा। पांचवीं में छात्राओं को परीक्षा परिणाम 97.23 प्रतिशत, जबकि छात्रों का 96.89 प्रतिशत रहा। यह परीक्षा 33 जिलों के आधार पर आयोजित की गई थी। इसमें दौसा, सीकर, अजमेर, प्रतापगढ़ और चूरू डाईट के क्षेत्राधीन विद्यालयों का परीक्षा परिणाम सर्वाधिक रहा है। कुल 9538 परीक्षार्थियों का परिणाम विभिन्न कारणों से रोका गया है। जिनका परिणाम बाद में जारी किया जाएगा।

इसी तरह कक्षा 8वीं में 12 लाख 50 हजार 800 परीक्षार्थी शामिल हुए थे। जिनमें से 11 लाख 97 हजार 321 परीक्षार्थी पास हुए। कुल परीक्षा परिणाम 95.72 प्रतिशत रहा। राजकीय विद्यालयों का परीक्षा परिणाम 94.54 प्रतिशत रहा, जबकि निजी विद्यालयों का परीक्षा परिणाम 97.38 प्रतिशत रहा।

आठवीं में छात्राओं का परीक्षा परिणाम 96.39 प्रतिशत, जबकि छात्रों का 95.14 प्रतिशत रहा। यह परीक्षा भी 33 जिलों के आधार पर आयोजित की गई। इसमें सीकर, दौसा, अलवर, अजमेर, तथा नागौर का परीक्षा परिणाम सबसे अच्छा रहा है। कुल 3550 परीक्षार्थियों का परिणाम विभिन्न कारणों से रोका गया है। इनका परिणाम बाद में जारी किया जायेगा।

दोनों परीक्षाओं के परिणाम में ग्रेड दी जाती है। दोनों परीक्षाओं में पांच पाइंट ग्रेडिंग सिस्टम दिया जाता है। पांचवीं में ए ग्रेड- 31.59 प्रतिशत, बी ग्रेड- 57.33 प्रतिशत, सी ग्रेड- 8.12 प्रतिशत और डी ग्रेड 0.01 प्रतिशत ने हासिल की। वहीं, 8वीं में ए ग्रेड- 21.05 प्रतिशत, बी ग्रेड- 51.79 प्रतिशत, सी ग्रेड- 22.69 प्रतिशत डी ग्रेड- 0.20 प्रतिशत छात्र उत्तीर्ण हुए। ई ग्रेड वाले परीक्षार्थियों को फिर एक मौका देते हुए उनका सप्लीमेंट्री एग्जाम आयोजित करवाया जाएगा। इसका आयोजन जुलाई में होगा।

पांचवीं कक्षा में इस बार भी कोई छात्र फेल नहीं किया गया। शिक्षा का अधिकार कानून के तहत किसी भी छात्रों को फेल नहीं किया गया। जो छात्र परीक्षा में उपस्थित नहीं था, उसे एक अवसर दिया जाएगा। फिर प्रमोट कर दिया जाएगा। आठवीं कक्षा में छात्रों को फेल किया गया। निर्धारित अंक से कम अंक लाने वाले छात्रों को फिर से आठवीं में बैठना पड़ेगा। हालांकि इन छात्रों को भी पूरक का एक अवसर दिया जा सकेगा।

उल्लेखनीय है कि पिछले साल राजस्थान बोर्ड आठवीं का परिणाम 95.59 फीसदी रहा था। आठवीं में कुल 12.63 लाख स्टूडेंट्स परीक्षा में बैठे थे। जिसमें 94.97 फीसदी बालक और 96.30 फीसदी बालिकाएं पास हुई थी।

(Udaipur Kiran) /रोहित/ईश्वर

Most Popular

To Top