HEADLINES

चार जून के बाद बैंकॉक और थाईलैंड की छुट्टी पर चले जाएंगे राहुल बाबा : अमित शाह

अमित शाह धर्मशाला में रैली को सम्बोधित करते हुए।
अमित शाह धर्मशाला में रैली को सम्बोधित करते हुए।

धर्मशाला, 25 मई (Udaipur Kiran) । भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को धर्मशाला में आयोजित चुनावी जनसभा में कांग्रेस नेता राहुल गांधी और इंडी गठबंधन पर जमकर हमला बोला। शाह ने कहा कि 4 जून को चुनाव परिणाम के बाद राहुल बाबा बैंकाक और थाईलैंड की छुट्टी पर निकल जाएंगे।

अमित शाह ने कहा कि भाजपा 400 प्लस सीटें जीतकर तीसरी बार केंद्र में सरकार बनाएगी। नरेन्द्र मोदी तीसरी बार देश के प्रधानमंत्री बनेंगे। कांग्रेस इस बार 40 सीटें भी पार नहीं कर पाएगी। शाह ने कहा कि 4 जून के बाद राहुल और उनके गठबंधन के नेता अपनी हार का ठीकरा ईवीएम पर फोड़ेंगे, यह तय है। 4 जून के बाद कांग्रेस को मिलने वाली हार का सारा दोष पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे पर डाला जाएगा और उन्हें राष्ट्रीय अध्यक्ष से इस्तीफा देना पड़ेगा। राहुल और प्रियंका गांधी इस पूरी हार की जिम्मेदारी राष्ट्रीय अध्यक्ष पर डालने वाले हैं।

शाह ने कहा कि विकास करना कांग्रेस का काम नहीं है जबकि भाजपा की आदत है। 2014 से पहले 10 वर्षों तक केंद्र की सत्ता पर रही कांग्रेस ने 12 लाख करोड़ के घपले और भ्रष्टाचार किया। यही नहीं उनके इंडी गठबंधन के मुख्यमंत्री भी अपने प्रदेशों में हर तरह के भ्रष्टाचार में शामिल रहे। वहीं दूसरी ओर नरेन्द्र मोदी पर एक भी भ्रष्टाचार का आरोप विपक्ष नहीं लगा पाया है।

शाह ने कहा कि करोड़ों गरीबों का कल्याण करने वाले मोदी ही हैं। कांग्रेस ने कोविड जैसी महामारी के समय में भी राजनीति की, लेकिन मोदी सरकार ने देश के 130 करोड़ लोगों को कोविड का टीका लगाकर उनका जीवन सुरक्षित किया। राहुल गांधी उस समय भी यही कहते थे कि यह मोदी का टीका है और इसे मत लगाओ जबकि बाद में जब पूरे देश में टीका लग गया तो राहुल गांधी अपनी बहन प्रियंका के साथ रात के अंधेरे में टीका लगाने पहुंच गए।

उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने इस दौरान ओच्छी राजनीति की और देश के लोगों को बरगलाने की कोशिश की। शाह ने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा मोदी सरकार के अच्छे कार्यों को सराहने की बजाय उनमें अड़ंगा डालने की कोशिश की। बात चाहे अनुच्छेद 370 हटाने की हो या फिर आतंकवाद और नक्सलवाद खत्म करने की। अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस सरकार के समय में देश में आतंकवाद और नक्सलवाद चरम पर था जिसे मोदी सरकार ने पूरी तरह खत्म किया है। कांग्रेस के समय में बम धमाके हुआ करते थे लेकिन आतंकवादियों को पकड़ने के लिए कोई कारगर रणनीति नहीं थी। वहीं मोदी सरकार के आने के बाद पुलवामा हमले के 10 दिन बाद ही हमारी भारतीय सेना ने पाकिस्तान के घर में घुसकर आतंकवादियों को निशाना बनाया।

शाह ने कहा कि पहले कश्मीर में गोलीबारी होती थी लेकिन अब वहां लोग अपने परिवार के साथ बेहिचक घूमने के लिए जा रहे हैं। जो स्थिति पहले कश्मीर में थी वह अब पीओके में है। पीओके के लोग पाकिस्तान को छोड़कर भारत में शामिल होना चाहते हैं, इसके लिए वहां पर पाकिस्तान के खिलाफ नारेबाजी और पत्थरबाजी होती है।

शाह ने इंडी गठबंधन पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके पास प्रधानमंत्री पद के लिए कोई भी नेता नहीं है। उन्होंने लोगों से पूछा कि क्या शरद पवार, ममता बनर्जी, अखिलेश यादव, लालू यादव या फिर राहुल बाबा प्रधानमंत्री बन सकते हैं क्या उनमें वह काबिलियत है।

(Udaipur Kiran) /सतेंद्र

Most Popular

To Top