Assam

विकास का उपहार लेकर फिर असम पहुंचे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

भाजपा

गुवाहाटी, 08 मार्च (Udaipur Kiran) । दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी विकास की सौगात लेकर इस साल दूसरी बार असम आए हैं। यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री कुल 18 हजार करोड़ रुपये का विकास उपहार भेंट करेंगे। राज्य के लोगों के साथ-साथ भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता देश के सर्वकालिक लोकप्रिय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का असम की भूमि पर पुनः स्वागत करने के लिए तैयार हैं।

पार्टी मुख्यालय में आज पार्टी प्रवक्ता डॉ जूरी शर्मा बरदलै ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार के दिनों में पिछले एक दशक में असम के साथ-साथ पूर्वोत्तर के लोगों ने सबसे अधिक विकास देखी है। भाजपा सरकार के तहत पीएम डिवाइन योजना के तहत 2023 से 2026 तक पूर्वोत्तर क्षेत्र के समग्र विकास के लिए 6 हजार 6 सौ करोड़ रुपये खर्च करने की व्यवस्था की गई है। 1947 से 2014 तक, पूर्वोत्तर में राष्ट्रीय राजमार्ग कुल 8 हजार 480 किलोमीटर थी। 2014 से 2023 तक, यह बढ़कर 15 हजार 735 किलोमीटर हो गई, जिसमें लगभग 85.55 प्रतिशत की वृद्धि हुई। आने वाले दिनों में 1.6 लाख करोड़ रुपये की लागत से पुलों, सड़कों, रोपवे, रोड ओवरवाइव, मल्टी-मोडल लॉजिस्टिक पार्क, उदयपुर-त्रिपुरा-सिलचर-असम मार्ग पर बुनियादी ढांचे का निर्माण किया जाएगा। नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में असम में धौला-सादिया, बोगीबील पुल का निर्माण कार्य पूरा कर लोगों को समर्पित किया जा चुका है। पूर्वोत्तर क्षेत्र के प्रत्येक राज्य को जोड़ने के लिए 19 हजार 855 करोड़ रुपये की लागत से नई रेल लाइनों और पहले से मौजूद रेल पटरियों का दोहरीकरण किया गया है। अमृत भारत योजना के तहत असम के 32 रेलवे स्टेशनों सहित पूर्वोत्तर क्षेत्र के 35 रेलवे स्टेशनों को विश्वस्तरीय बनाने के उपाय किए गए हैं।

असम में अत्याधुनिक हाई स्पीड विस्टाडोम और वंदे भारत एक्सप्रेस का संचालन शुरू हो गया है। जिसके माध्यम से पूर्वोत्तर क्षेत्र के यात्रियों को अत्याधुनिक सुविधाओं के साथ रेलवे सफर की सुविधा मिल पाई है। पिछले नौ वर्षों में पूर्वोत्तर क्षेत्र में स्वास्थ्य क्षेत्र के विकास पर कुल 31,793.86 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं।

आयुष्मान भारत मिशन के तहत 5,600 स्वास्थ्य देखभाल और कल्याण केंद्र स्थापित किए गए हैं। पीएम जन आरोग्य योजना के माध्यम से 2018-2023 तक 10.7 लाख लोगों को मुफ्त ईलाज प्रदान किया गया है। पूर्वोत्तर में पहला एम्स गुवाहाटी में लगभग 1120 करोड़ रुपये की लागत से स्थापित किया गया है। कांग्रेस के शासनकाल में राज्य सरकारों को केंद्र सरकार से अफ्स्पा बरकरार रखने की अपील करनी पड़ी थी। लेकिन, वर्तमान सरकार के तहत, पूर्वोत्तर के 75 प्रतिशत क्षेत्र को अफ्स्पा मुक्त घोषित किया गया है।

भाजपा प्रवक्ता ने दोहराया कि विकास की इस गति को जारी रखते हुए, प्रधानमंत्री वीर लाचित की कांस्य प्रतिमा का उद्घाटन करेंगे, जिसे होलोंगापारा में 149.82 करोड़ रुपये की लागत से बनाया गया है। 768 करोड़ रुपये की लागत से डिगबोई रिफाइनरी, 510 करोड़ रुपये की लागत से 10 लाख मैट्रिक टन से 2.1 मीट्रिक टन तक विस्तार के लिए आधारशिला रखी जाएगी। प्रधानमंत्री बरौनी से गुवाहाटी तक 3992 करोड़ रुपये की लागत से तेल एवं प्राकृतिक गैस की एक बड़ी पाइपलाइन परियोजना का भी उद्घाटन करेंगे।

प्रवक्ता ने कहा कि भाजपा सरकार के दिनों के दौरान देश में महिलाओं को सबसे अधिक विकास के अवसर मिले हैं। स्टार्टअप क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी पिछले एक दशक में बढ़ी है। केंद्र सरकार में महिलाओं को प्रमुख पदों पर स्थान दिया गया है, जबकि देश में 15 प्रतिशत वाणिज्यिक हवाई जहाजों की पायलट महिलाएं हैं। महिला एथलीटों की संख्या भी पहले से अधिक बढ़ी है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर जानी मानी लेखिका और शिक्षाविद सुधा मूर्ति को राज्यसभा के लिए मनोनीत किए जाने की घोषणा की है।

(Udaipur Kiran) /श्रीप्रकाश

Most Popular

To Top