HimachalPradesh

प्रधानमंत्री मोदी ने चिन्तपूर्णी में प्रसाद योजना कार्यों का किया शुभारंभ

चिन्तपूर्णी में कार्यक्रम के दौरान।
चिन्तपूर्णी में कार्यक्रम के दौरान।
चिन्तपूर्णी में कार्यक्रम के दौरान।

ऊना, 07 मार्च (Udaipur Kiran) । प्रधानमंत्री नरेंद्र सिंह मोदी ने वीरवार को वर्चुअल माध्यम से माता श्री चिंतपूर्णी मंदिर में प्रसाद योजना के माध्यम से किए जाने वाले विभिन्न विकास/प्रयोजना कार्यों का ऑनलाइन शुभारंभ किया। इस दौरान चिंतपूर्णी विधानसभा क्षेत्र के विधायक सुदर्शन सिंह बवलू मुख्यातिथि के रूप में उपस्थित रहे। उन्होंने माता श्री चिंतपूर्णी मंदिर में ऑनलाईन प्रसाद योजना के लिए लगभग 25 करोड़ रूपये स्वीकृत करने के लिए प्रधानमंत्री का धन्यावाद किया।

इस दौरान उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए सुदर्शन सिंह बबलू ने कहा कि प्रदेश ही नहीं बल्कि देश व विदेश के करोड़ों लोगों की आस्था माता श्री चिंतपूर्णी मंदिर में जुड़ी है और करोड़ों श्रद्धालु यहां आकर अपना शीश निवाते है। प्रदेश सरकार के सत्ता में आते ही माता श्री चिंतपूर्णी मंदिर में अनेकों विकासात्मक कार्यों को मूर्त रूप दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि माता श्री चिंतपूर्णी जी का भव्य मंदिर बनाने तथा सौंदर्यीकरण के साथ-साथ मंदिर में अन्य विकासात्मक कार्यों पर लगभग 250 करोड़ रूपये मास्टर प्लान के तहत खर्च किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि मंदिर न्यास द्वारा लोगों के कल्याणार्थ विभिन्न प्रकल्प चलाए जा रहे है। उन्होंने बताया कि मंदिर न्यास के माध्यम से पहले लड़कियों की शादी में 15 हज़ार रूपये की राशि दी प्रदान की जाती थी। लेकिन वर्तमान में इस आर्थिक सहायता राशि को बढ़ाकर 25 हज़ार रूपये कर दिया गया है ताकि गरीब परिवार को लाभ मिल सके।

उन्होंने कहा कि माता श्री चिंतपूर्णी मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं को बेहतरीन सुविधाएं मिले इसके लिए मंदिर में हवन, प्रसाद, जागरण व लंगर करवाने के लिए ऑनलाईन सुविधा से जोड़ा गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार के प्रयासों से श्रद्धालुओं को माता श्री चिंतपूर्णी जी के दशनार्थ सुगम दर्शन पर्ची प्रणाली आरंभ की गई है जिससे यहां आने वाले श्रद्धालु को माता श्री चिंतपूर्णी के दर्शन करने में काफी आसानी हो रही है और श्रद्धालुओं द्वारा इस सुगम दर्शन पर्ची प्रणाली को काफी सराहा जा रहा है।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार हिमाचल प्रदेश को धार्मिक पर्यटन की दृष्टि से प्रमुख गंतव्य के रूप में विकसित करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि श्रद्धालुओं और धार्मिक पर्यटकों को आकर्षित करने के उद्देश्य से प्रदेश के सभी मुख्य मंदिरों और धार्मिक स्थलों का विकास और रख-रखाव किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि माता चिंतपूर्णी मंदिर क्षेत्र का प्रमुख पवित्र धार्मिक स्थल है, जहां पूरे विश्व से पर्यटक आते हैं। उन्होंने कहा कि इस तीर्थस्थल पर आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए बेहतर बुनियादी सुविधाएं प्रदान करने के अलावा धार्मिक स्थल को बेहतर कनेक्टिविटी प्रदान करने के लिए आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं।

इस अवसर पर केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण और युवा मामले व खेल मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर का भी संदेश सुनाया गया।

(Udaipur Kiran) /विकास/उज्जवल

Most Popular

To Top