Uttar Pradesh

उप्र में प्री मानसून की गतिविधियों से पड़ सकती हैं बौछारें

उप्र में प्री मानसून की गतिविधियों से पड़ सकती हैं बौछारें

कानपुर, 24 मई (Udaipur Kiran) । बंगाल की खाड़ी में समुद्री गतिविधियों से मानसून आगे बढ़ने की परिस्थितियां अनुकूल होती दिखाई दे रही हैं। इससे उत्तर प्रदेश में प्री मानसून का असर जल्द देखने को मिल सकता है और स्थानीय स्तर पर हल्की बौछारें पड़ सकती हैं। इसके साथ ही तेज हवाएं और आसमान में बादलों की आवाजाही बनी रहेगी, लेकिन उमस भरी गर्मी से फिलहाल लोगों को राहत मिलती नहीं दिख रही है।

चन्द्रशेखर आजाद कृषि प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के मौसम वैज्ञानिक डॉ. एस एन सुनील पाण्डेय ने शुक्रवार को बताया कि दक्षिण बंगाल की खाड़ी के कुछ हिस्सों, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के शेष हिस्सों, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के शेष हिस्सों, पूर्वी केंद्र बंगाल की खाड़ी के कुछ हिस्सों में मानसून की आगे की शुरुआत के लिए परिस्थितियाँ अनुकूल होती जा रही हैं।

बंगाल की खाड़ी के दक्षिण और उससे सटे पश्चिम मध्य भाग पर एक डिप्रेशन आज 24 मई की सुबह बंगाल की खाड़ी के मध्य भागों पर केंद्रित हो गया है। यह उत्तर-पूर्व दिशा में आगे बढ़ना जारी रख सकता है और 24 मई की शाम तक गहरे डिप्रेशन में तब्दील हो सकता है। इसके बाद, इसके उत्तर-पूर्व की ओर जारी रहने और 25 मई की सुबह तक पूर्वी मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की संभावना है।

इसके बाद यह लगभग उत्तर की ओर बढ़ेगा और 26 मई की शाम तक एक भीषण चक्रवाती तूफान के रूप में बांग्लादेश और निकटवर्ती पश्चिम बंगाल तट के पास पहुंचेगा। दक्षिण-पूर्वी राजस्थान पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है। एक ट्रफ रेखा दक्षिण-पूर्व राजस्थान पर बने चक्रवाती परिसंचरण से मध्य प्रदेश के मध्य भागों से होते हुए झारखंड तक फैली हुई है।

एक उत्तरी दक्षिणी ट्रफ दक्षिण-पूर्व राजस्थान पर चक्रवाती परिसंचरण से लेकर दक्षिण-पश्चिम मध्य प्रदेश और मध्य महाराष्ट्र होते हुए मराठवाड़ा तक फैली हुई है। मौसम की इन गतिविधियों से उत्तर प्रदेश में खासकर पूर्वी उत्तर प्रदेश में हल्की बारिश की संभावना है। वातावरण में नमी होने से उमस भरी गर्मी लोगों को अभी परेशान करती रहेगी।

उन्होंने बताया कि कानपुर में अधिकतम तापमान 39.2 और न्यूनतम तापमान 28.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सुबह की सापेक्षिक आर्द्रता 68 और दोपहर की सापेक्षिक आर्द्रता 43 प्रतिशत रही। हवाओं की दिशाएं उत्तर पूर्व रहीं जिनकी औसत गति 11.9 किमी प्रति घंटा रही। मौसम पूर्वानुमान के अनुसार अगले पांच दिनों में हल्के बादल छाए रहने के आसार हैं किन्तु वर्षा की कोई संभावना नहीं है। इसके साथ ही उमस भरी गर्मी बरकरार रहेगी।

(Udaipur Kiran) /बृजनंदन

Most Popular

To Top