Jammu & Kashmir

महाशिवरात्रि पर्व पर जिलेभर के शिव मंदिरों में लोगों ने की पूजा अर्चना, बिल्वपत्र शहद दूध दही शक्कर गंगाजल से किया जलाभिषेक

महाशिवरात्रि पर्व पर जिलेभर के शिव मंदिरों में लोगों ने की पूजा अर्चना, बिल्वपत्र शहद दूध दही शक्कर गंगाजल से किया जलाभिषेक

कठुआ 08 मार्च (Udaipur Kiran) । शुक्रवार को महाशिवरात्रि पर्व पर जिलेभर के शिव मंदिरों में लोगों ने पूजा अर्चना की। जिसमें शिव भक्तों ने शिवलिंग पर दूध और गंगाजल चढ़ाकर विधि विधान से पूजा की और व्रत रखा।

इसी बीच कई मंदिर संस्थाओं की तरफ से शोभायात्रा निकाली गई तो कई स्थानों पर भंडारे भी किए गए। शिवरात्रि पर्व को लेकर ऐतिहासिक महादेव मंदिर, वावली वाले मंदिर, प्राचीन महानाल मंदिर, लक्ष्मीनारायण मंदिर, कामेश्वर मंदिर सहित जिलेभर के अन्य सभी मंदिरों में श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। श्रद्धालुओं ने भगवान शिव को बेल पत्र, फल-फूल, मिष्ठान चढ़ाकर दुग्धाभिषेक किया। पर्व को लेकर मंदिरों को फूलों व लाइटों से सजाया गया था। पंडित आशोक कुमार ने बताया कि हिन्दू पंचांग के अनुसार, हर साल फाल्गुन मास के कृष्णपक्ष की चतुर्दशी तिथि को महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जाता है। इस वर्ष महाशिवरात्रि पर विशेष योग बन रहा है। इस दिन शिव योग के साथ सिद्ध योग भी बन रहा है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन जलाभिषेक करने से शिव भक्तों पर शिव भगवान की कृपा बरसेगी। उनकी कृपा से शिव भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूरी होती है। उन्होंने बताया कि हिंदू शास्त्रों के अनुसार महाशिवरात्रि के दिन महादेव की पूजा करते समय बिल्वपत्र, शहद, दूध, दही, शक्कर और गंगाजल से जलाभिषेक करना चाहिए। माना जाता है कि ऐसा करने से भगवान शिव की कृपा हमेशा बनी रहती है। इससे शिवभक्त को कभी किसी समस्या का सामना नहीं करना पड़ता। इसी प्रकार कठुआ के बसंतपुर के केंडें गांव स्थित शिव मंदिर में ग्रामीण युवकों ने पूरे श्रद्धा भाव से मंदिर को सजाया और रात को चार पहर पुजा भी की। वहीं जिलेभर के मंदिरों में लंगर का भी आयोजन किया गया जहां हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण किया।

(Udaipur Kiran) /

Most Popular

To Top