Uttar Pradesh

अब दुश्मन के घर में भी भारत विरोधी तत्व सुरक्षित नहीं है: योगी आदित्यनाथ

वाराणसी में मुख्यमंत्री की जनसभा: फोटो बच्चा गुप्ता
वाराणसी में मुख्यमंत्री की जनसभा: फोटो बच्चा गुप्ता
वाराणसी में मुख्यमंत्री की जनसभा: फोटो बच्चा गुप्ता

-अस्सीघाट पर चुनावी जनसभा में मुख्यमंत्री ने काशी नगरी में हुए विकास का जिक्र किया

बोले- काशी ने विकास व विरासत का मॉडल प्रस्तुत किया

वाराणसी, 25 मई (Udaipur Kiran) । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अब दुश्मन के घर में भी भारत विरोधी तत्व सुरक्षित नहीं है। यह नया भारत है। यह किसी को छेड़ेगा नहीं और जो छेड़ेगा उसे छोड़ेगा भी नहीं। कांग्रेस के समय संकटमोचन मंदिर, यहां की कचहरी पर हमला होता था। जब हम सरकार के सामने यह मुद्दा रखते थे तो वह कहती थी कि यह सीमा पार के हमले हैं। आज उसी भारत में आतंकवाद व नक्सलवाद समाप्त हुआ है।

मुख्यमंत्री शनिवार शाम अस्सीघाट पर वाराणसी संसदीय सीट से भाजपा प्रत्याशी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के समर्थन में जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि जब मजबूत सरकार होती है तो देश के दुश्मन सफाई देने के लिए मजबूर होते हैं। अब तो यूके का सबसे प्रतिष्ठित समाचार पत्र भी लिखता है कि तीन वर्ष में पाकिस्तान के अंदर दो दर्जन से अधिक दुर्दांत आतंकी मार दिए गए। उसने आशंका जताई कि इसके पीछे भारत की एजेंसियां हैं यानी दुश्मन के घर में भी भारत विरोधी तत्व सुरक्षित नहीं हैं।

मुख्यमंत्री ने काशी नगरी में हुए विकास का जिक्र कर कहा कि 2014 से पहले काशी उपेक्षाओं का दंश झेल रही थी। माफिया, आतंकी घटनाएं काशी की पहचान बन रही थी। काशी की आध्यात्मिक व सांस्कृतिक गूंज हजारों वर्षों से दुनिया में रही, लेकिन आजादी के बाद काशी, भारत के सनातन परंपरा से जुड़े हुए श्रद्धालुओं की जो अपेक्षा और आकांक्षा थी, उसके अनुरूप काशी की कायाकल्प तत्कालीन राजनीतिक शक्तियों ने नहीं किया। लेकिन 2014 में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को मां गंगा ने आशीर्वाद दिया उसके बाद नए भारत का नया उत्तर भारत और भव्य काशी व दिव्य काशी सामने है। अब काशी के चारों ओर फोरलेन कनेक्टिविटी है। वाराणसी का एयरपोर्ट सबसे व्यस्ततम एयरपोर्ट माना जाता है। देश का सबसे बड़ा रोपवे, मंदिरों का कायाकल्प किया गया। उन्होंने कहा कि आज कहीं सर्वाधिक पर्यटक आ रहे हैं तो काशी में। रेलवे का मॉडल, वंदे भारत, हाइवे सब कुछ काशी के पास है। अस्सीघाट का जिक्र कर मुख्यमंत्री ने कहा कि इसी घाट पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्वच्छता का संदेश दिया, जो आंदोलन बन गया। इसकी शुरुआत यहीं से प्रधानमंत्री ने की। मुख्यमंत्री ने कहा कि काशी से होकर क्रूज का संचालन हुआ है। अब रोपवे का निर्माण हो रहा है। कैंट से विश्वनाथ मंदिर की दूरी कुछ ही मिनट में तय कर लेंगे। इस नई काशी ने मोदी को चुना तो मोदी ने पूरे भारत का कायाकल्प कर दिया। प्रधानमंत्री नरन्द्र मोदी के कार्यकाल में देश से आतकंवाद का खात्मा हुआ। बेहतर सुरक्षा व्यवस्था का मॉडल प्रस्तुत हुआ है। भारत के अंदर विकास का मॉडल क्या होना चाहिए। भारत आज एक मॉडल के रूप में विकसित हो गया।

सीएम योगी ने कहा कि 2014 से पहले से सुबह-सुबह समाचार पत्रों में घोटालों की खबरें आती थीं, शाम को आतकंवादी हमले की खबरें आती थीं। आज स्थितियां बदल चुकी हैं। आज पूरे देश में 80 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन मिल रहा है। यहां अब कोई भूख से नहीं मरता है। इंडी गठबंधन कहता है, भारत को पाकिस्तान के खिलाफ नहीं बोलना चाहिए। इनसे कहना है वहीं जाओ भीख भी नहीं मिलेगी। पाकिस्तान में 23 करोड़ लोग भूख से मर रहे हैं। हम देश में आयुष्मान कार्ड चला रहे हैं। किसान को सम्मान निधि दे रहे, गरीबों के मकान बन गए हैं। अयोध्या में प्रभु राम का धाम, काशी विश्वनाथ धाम देखिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि काशीवासियों का गौरव है कि वे वर्तमान और भावी पीढ़ी को बोल सकते हैं कि पांच सौ वर्षों का इंतजार जब हुआ, तब हम भी इसके साक्षी थे। काशीवासियों ने संसद में मोदी को पहुंचाया है, इसलिए वे ताल ठोककर कहें कि हमने अयोध्या, भारत और सनातन धर्म के गौरव को लौटाया है। 2014 में काशी ने अपने जनप्रतिनिधि के रूप में दुनिया के सबसे लोकप्रिय राजनेता, एक भारत-श्रेष्ठ भारत के शिल्पी नरेंद्र मोदी को चुनकर भेजा तो नए भारत के नए उत्तर प्रदेश में भव्य-दिव्य काशी दिख रही है। काशी ने विकास व विरासत का मॉडल प्रस्तुत किया है। काशी में विश्वनाथ धाम और अयोध्या में श्रीराम का धाम इसका उदाहरण है।

जनसभा में इनकी रही उपस्थिति

जनसभा में राज्यमंत्री रविंद्र जायसवाल, दयाशंकर मिश्र ‘दयालु’, शहर दक्षिणी के विधायक डॉ नीलकंठ तिवारी, वाराणसी के भाजपा लोकसभा प्रभारी सतीश चंद्र द्विवेदी, महानगर अध्यक्ष विद्यासागर राय, मीना चौबे, विधानसभा संयोजक अभिषेक मिश्र, प्रदेश प्रवक्ता अशोक पांडेय आदि मंचासीन रहे। सभा में स्वागत भाषण कैंट विधायक सौरभ श्रीवास्तव व संचालन अमित राय ने किया।

(Udaipur Kiran) /श्रीधर/आकाश

Most Popular

To Top