HEADLINES

छात्रों के लिए शुरू किया नया AI शिक्षा प्लेटफार्म

0 0
Read Time:5 Minute, 16 Second

DcodeAI भारत में अपने 10, 0 से ज्यादा विद्यालयों के पूरे नेटवर्क में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सीखने के लिए डिवाइस एग्नोस्टिक, गेमीफाइड और क्लाउड पर आधारित डीआईवाई पाठ्यक्रम प्रदान करता है.

भारत और अफ्रीका, यूके, यूएसए और यूएई जैसे वैश्विक बाजारों में ज्यादा से ज्यादा छात्रों को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का ज्ञान मिले यह उनका लक्ष्य है.

नयी दिल्ली.  आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर ज़ोर देने वाले, शिक्षा प्रौद्योगिकी क्षेत्र के भारतीय स्टार्टअप DcodeAI ने 12 से 18 वर्ष की आयु तक के छात्रों के लिए नया डीआईवाई शिक्षा प्लेटफार्म शुरू किया है. इसमें नेचुरल लैंग्वेज प्रोसेसिंग (एनएलपी), कंप्यूटर विज़न (सीवी), डेटा सायंस शामिल हैं.  DcodeAI की स्थापना इस साल की शुरूआत में की गई.

नयी पीढ़ी को कोडिंग की औपचारिक पृष्ठभूमि न होते हुए भी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के कौशल सीखने के अवसर मिलें यह DcodeAI का लक्ष्य है. इस स्टार्टअप में सुलतान चंद एंड संस (पी) लिमिटेड, एजुकेशनल पब्लिशिंग हाउस ने  5 , 0 यूएस डॉलर्स के एंजल निवेश किए हैं. फ़िलहाल 10, 0 से ज्यादा विद्यालय उनके नेटवर्क में शामिल हैं, वहाँ के सभी छात्रों को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की शिक्षा मिले इसलिए यह स्टार्टअप प्रयासशील है.

सीखना, सिखाना आसान हो, हर छात्र की जरूरतें पूरी हों, हर छात्र की क्षमताओं को बढ़ने के अवसर मिल सकें, इसलिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उपयोग और कम कोड्स / कोड्स के बिना टूल्स पर DcodeAI ज़ोर देता है. इस तरह से कोडिंग की पृष्ठभूमि के बिना भी AI मॉडल्स सीखने और उनका उपयोग करने की शुरूआत की जा सकती है. डीआईवाई लर्निंग प्रोग्राम्स का नया सेट ऐसे छात्रों के लिए बनाया गया है जो आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की संकल्पना सीख सकते हैं और डेटा मैनीपुलेशन, डेटा विजुअलाइज़ेशन, स्टैटिस्टिक्स, मशीन लर्निंग, डीप लर्निंग और अन्य विषयों के अपने कौशल बढ़ा सकते हैं. जिन छात्रों को चैटबॉट्स, इमेज रेकग्निशन मॉडल्स और वौइस् रेकग्निशन पर आधारित बॉट्स और होम ऑटोमेशन सिस्टम्स विकसित करना सीखना है, उनके लिए यह लर्निंग प्रोग्राम्स उपयुक्त हैं.

DcodeAI के सीईओ और सह-संस्थापक कार्तिक शर्मा जी ने कहा, 2020 में हमारे देश की शिक्षा प्रणाली और छात्रों की सीखने और विकास की कुल प्रक्रिया में कई बड़े परिवर्तन हुए हैं हमारे माननीय प्रधानमंत्री जी ने भी कहा है कि सभी क्षेत्रों में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उपयोग किया जाना ज़रूरी है इस AI परिवर्तन की शुरूआत विद्यालय स्तर से होनी चाहिए और DcodeAI में इसी को सक्षम करना चाहते हैं

समस्याओं को सुलझाने और प्रभावशाली नवाचारों के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उपयोग करने के इच्छुक छात्रों के लिए उसे सीखना आसान बनाना हमारा उद्देश्य है.

2022 वित्त वर्ष की पहली तिमाही तक 5  से ज्यादा विद्यालयों तक पहुँचना हमारा तत्काल लक्ष्य है और 2022 वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही तक अफ्रीका, यूके, यूएसए और यूएई जैसे देशों में वैश्विक विस्तार करने की योजना भी हमने बनाई है. ”

इसके अलावा विद्यालयों में शिक्षकों को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का ज्ञान देकर उनकी क्षमताओं को बढ़ाने के लिए ऑफलाइन टीचर ट्रेनिंग सेशंस भी आयोजित की जाएँगी इसमें डेटा सायंस, ऑटोमेशन, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और मशीन लर्निंग इन विषयों के कोर्सेस होंगे.

छात्रों के लिए शुरू किया नया AI शिक्षा प्लेटफार्म .

Happy
0 0 %
Sad
0 0 %
Excited
0 0 %
Sleppy
0 0 %
Angry
0 0 %
Surprise
0 0 %
Click to comment

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top