Uttar Pradesh

कांग्रेस और सपा की साजिश हुई बेनकाब, व्हाट्सएप पर प्रसारित किया गया था भ्रामक पोस्ट

मंत्री नन्दी

–मामले में आरोपी का कांग्रेस से कनेक्शन आया सामने

–प्रकरण में व्हाट्सएप ग्रुप एडमिन की हुई गिरफ्तारी

–पोस्ट करने वाले व्यक्ति की तलाश में जुटी पुलिस, जगह-जगह दे रही दबिश

प्रयागराज, 26 मई (Udaipur Kiran) । संगमनगरी में मतदान के दिन 25 मई को प्रस्तावित लोकसभा चुनाव मतदान के ठीक एक दिन पूर्व 24 मई को सोशल मीडिया प्लेटफार्म वाट्सएप के एक ग्रुप शंकरगढ़ नारीबारी चाकघाट न्यूज पर एक मैसेज प्रसारित किया गया। मैसेज में उत्तर प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी और उनकी पत्नी पूर्व महापौर अभिलाषा गुप्ता नन्दी की राजनैतिक उपेक्षा की बात कहते हुए वोट के माध्यम से जवाब देने की बात कही गई।

यह विषय संज्ञान में आते ही कैबिनेट मंत्री नन्दी ने त्वरित सक्रियता दिखाते हुए उक्त ग्रुप के एडमिन प्रमोद बाबू झा और मैसेज प्रसारित करने वाले सम्बंधित व्यक्ति के विरुद्ध थाना कोतवाली में एफआईआर दर्ज करायी। साथ ही अपने राजनैतिक विरोधियों द्वारा षडयंत्र पूर्वक उनकी छवि धूमिल करने और पुलिस से मामले के तत्काल अनावरण एवं कठोर विधिक कार्रवाई की बात कही। पुलिस ने ग्रुपएडमिन प्रमोद बाबू झा को रात्रि एक बजे हिरासत में ले लिया। विवेचना के दौरान पोस्ट करने वाले व्यक्ति की पहचान पप्पू के रूप में हुई।

मंत्री नन्दी के मीडिया प्रभारी ने जानकारी देते हुए बताया कि पूछताछ के दौरान यह मामला सामने आया कि पप्पू शंकरगढ़ के कांग्रेस नेता एवं पूर्व ब्लॉक प्रमुख यज्ञ नारायण मिश्रा के कारोबार इत्यादि की देखभाल करता है। यज्ञ नारायण मिश्रा का बेटा प्रमोद मिश्रा रायपुर, छत्तीसगढ़ में कांग्रेस पार्टी का पार्षद है। पोस्ट करने वाले व्यक्ति की पृष्ठभूमि कांग्रेस पार्टी से सम्बंधित है। मामले में अग्रिम विवेचना प्रचलित है। पोस्ट करने वाला व्यक्ति फोन स्विच ऑफ करके फरार है, जिसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस जगह-जगह दबिश दे रही है। पुलिस फरार अभियुक्त की लोकेशन ट्रेस कर रही है, जिसकी अंतिम लोकेशन झारखण्ड दिखा रही है। सम्बंधित व्यक्ति की गिरफ्तारी से इस राजनैतिक साजिश के अन्य पहलू भी सामने आएंगे।

मीडिया प्रभारी ने बताया है कि अभी तक प्रकाश में आए तथ्यों से यह स्पष्ट है कि यह पोस्ट मतदान के ठीक एक दिन पहले बेहद संवेदनशील समय पर चुनावी लाभ लेने के उद्देश्य से किया गया। प्रकरण में कांग्रेस पार्टी और उससे जुड़े हुए लोगों की संलिप्तता है। यह पूरा घटनाक्रम मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी की छवि को प्रभावित करने के उद्देश्य से षडयंत्र पूर्वक रचा गया था।

(Udaipur Kiran) /विद्या कान्त/सियाराम

Most Popular

To Top