Uttrakhand

कांग्रेस अध्यक्ष माहरा ने की बिल्डर आत्महत्या मामले की उच्च स्तरीय जांच की मांग

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा। 

देहरादून, 25 मई (Udaipur Kiran) । प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने दून के बिल्डर सरदार सत्येंद्र सिंह साहनी के आत्महत्या पर सरकार को घेरते हुए उच्च स्तरीय जांच की मांग की है। उन्होंने कहा कि सुसाइड नोट में प्रताड़ित करने वाले लोगों का नाम लिखा गया है। अब देखना है कि पुलिस निष्पक्ष जांच किस प्रकार करती है।

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष माहरा ने एक जारी बयान में कहा कि इस पूरे प्रकरण में कई बडे़ सफेदपोश और बडे़ अधिकारियों का भी हाथ है। बिल्डर साहनी ने अपने मुत्यु से पहले उक्त प्रकरण की शिकायत भी की थी। इसके बावजूद समय रहते पुलिस कोई कदम उठा नहीं पाई।

उन्होंने कहा कि स्व. साहनी ने सुसाइड नोट में स्पष्ट तौर पर लिखा है कि ’’सेव माई फैमली’’ इसका मतलब साफ है कि उनके परिवार को भी जान का खतरा है। उनके परिवार की सुरक्षा के लिए अभी तक पुलिस प्रशासन की ओर से क्यों नहीं कदम उठाये गये हैं?

उन्होंने आरोप लगाया कि हत्याकाण्ड के लिए मजबूर करने वाले अजय और अनिल गुप्ता को किसका संरक्षण प्राप्त है। इसकी सरकार को उच्च स्तरीय जांच करनी चाहिए। उन्होंने गुप्ता बन्धुओं का जिक्र करते हुए कहा कि ये लोग दक्षिण अफ्रिका में भी वांछित रहे हैं और यह लोग अन्य कई अपराधों में भी शामिल हो सकते हैं। इनकी गतिविधियां पहले से ही संदिग्ध रही हैं।

उन्होंने कहा कि गुप्ता बंन्धुओ की पहले से संदिग्ध गतिविधियां रही हैं, जो सरकार से छिपी नही है। इसके बावजूद आज तक ना केन्द्र सरकार और ना ही उत्तराखण्ड सरकार ने कोई कार्रवाई की।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी लगातार सरकार की लचर कानून व्यवस्था पर सवाल उठाती रही है। परन्तु सरकार के कान में जूं तक नही रेंग रही है, जिसका खामयाजा साहनी को झेलना पड़ा है। सरकार संवेदनहीन हो चुकी है। उन्होंने सरकार से इस प्रकरण की उच्च स्तरीय जांच की मांग की है।

हिन्दुस्थान सामाचार/राजेश/रामानुज

Most Popular

To Top