Uttrakhand

मुख्यमंत्री बोले- किसी भी कीमत पर नहीं बिगड़ने देंगे देवभूमि का मूल स्वरूप

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री बोले- किसी भी कीमत पर नहीं बिगड़ने देंगे देवभूमि का मूल स्वरूप

– हल्द्वानी हिंसा के एक-एक दंगाई होंगे सलाखों के पीछे, चैन से नहीं बैठेगी सरकार

देहरादून, 08 मार्च (Udaipur Kiran) । मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने महाशिवरात्रि व महिला दिवस पर कहा कि देवभूमि का मूल स्वरूप किसी भी कीमत पर बिगड़ने नहीं दिया जाएगा। हल्द्वानी में बनभूलपुरा घटना को अंजाम देने वाले एक-एक दंगाई को जब तक सलाखों के पीछे नहीं डाल दिया जाता, तब तक सरकार चैन से नहीं बैठेगी। जिन लोगों ने कानून के काम को रोकने का कार्य किया है, जो भी दोषी होगा उनके विरुद्ध जांच होगी। जिन लोगों ने सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया है, वसूली भी उन्हीं दंगाइयों से होगा।

जो किसी ने नहीं किया वाे भाजपा कर रही है-

नैनीताल के काठगोदाम में शुक्रवार को शिलान्यास व लोकार्पण के अवसर पर धामी ने कहा कि हल्द्वानी में रोडवेज बस टर्मिनल, आरटीओ कार्यालय, ड्राइविंग सेंटर सहित अन्य निर्माण कार्य कई वर्ष पहले तैयार हो जाने चाहिए थे, लेकिन भाजपा सरकार की ओर से तमाम ऐसे कार्य किए जा रहे हैं, जो पूर्व की सरकारों ने नहीं किए।

3500 एकड़ भूमि अतिक्रमण से कराया मुक्त-

मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि देवभूमि जैसे पवित्र स्थान पर लंबे समय से सरकारी भूमि पर लैंड जिहाद का खतरनाक षड्यंत्र रचा जा रहा है। सिंचाई विभाग, वन विभाग, नगर निगम सहित अन्य विभागों की सरकारी भूमि पर कब्जे की नीयत से कथित धार्मिक स्थल बनाकर उन्हें कब्जाया जा रहा था। सरकार ने अतिक्रमण मुक्त अभियान चलाकर लगभग 3500 एकड़ भूमि से अतिक्रमण मुक्त कराया है।

गिनाईं उपलब्धियां-

धामी ने कहा कि सरकार जनता का दु:ख-दर्द समझती है। सरकार की ओर से व्यापारियों के लिए वेंडिंग जोन बनाए जा रहे हैं। उन्होंने लैंड जिहाद पर कार्यवाही, नकल विरोधी कानून, समान नागरिक संहिता और धर्मांतरण को लेकर बनाए गए कानूनों की उपलब्धियां गिनाईं।

(Udaipur Kiran) /कमलेश्वर शरण/रामानुज

Most Popular

Copyright © Rajasthan Kiran

To Top