उदयपुर. भूपाल नोबल्स यूनिवर्सिटी एक बार फिर विवादों में है। यहां मंगलवार को जैसे ही अधिकारी सुबह प्रशासनिक भवन में ड्यूटी के लिए पहुंचे तो उन्हें प्रवेश द्वार पर ताला जड़ा मिला। अधिकारियों ने जब चौकीदार से चाबी मांगी तो उसने अपने पास नहीं होने की बात कही। जानकारी में सामने आया कि विद्या प्रचारिणी सभा के सचिव महेन्द्र सिंह अगरिया ने ताला लगा दिया। अधिकारी व कार्मिक घंटों तक ताला खुलने का इन्तजार करते रहे। अधिकारियों ने अगरिया से आग्रह किया कि वे चाबी दे दे, लेकिन उन्होंने चाबी नहीं दी। विवि चेयरपर्सन प्रदीपकुमार सिंह सिंगोली ने फोन पर रजिस्ट्रार आरएस चौहान को ताला तोडऩे के निर्देश दिए। इसके बाद ताला तोड़ा गया। सूचना पर एकबारगी पुलिस भी मौके पर पहुंच गई।

इसलिए लगाया ताला
प्रशासनिक भवन पर ताला लगाने का कारण ये बताया जा रहा है कि महेन्द्रसिंह कार्मिकों पर अकारण यूनिवर्सिटी छोड़क र विद्या प्रचारिणी सभा में आने का दबाव बना रहे हैं, कार्मिक इसके लिए राजी नहीं है, इसलिए ये विवाद बढ़ता नजर आ रहा है।

– विद्या प्रचारिणी सभा के उपाध्यक्ष भगवानसिंह भाटी व कार्यकारिणी सदस्य गजेन्द्रसिंह शक्तावत ने उन्हें समझाने का प्रयास किया, लेकिन महेन्द्रसिंह चाबी देने को राजी नहीं हुए। इसी बीच यूनिवर्सिटी चैयरपर्सन व विद्या प्रचारिणी सभा के कार्यवाहक अध्यक्ष प्रदीपसिंह सिंगोली ने रजिस्ट्रार रघुवीर सिंह चौहान को ताला तोडऩे का निर्देश दिया। अपराह्न तीन बजे तक चाबी नहीं आने के कारण इसे रजिस्ट्रार चौहान ने कार्यवाहक वीसी महेन्द्रसिंह राणावत, विद्या प्रचारिणी सभा के कार्यकारिणी सदस्य मोतीसिंह झाला व सदस्य गणपतसिंह की मौजूदगी में ताला तोड़ा गया, इसके बाद सभी पदाधिकारियों ने प्रशासनिक भवन में प्रवेश किया।
——

भवन सबसे महत्वपूर्ण
बीएन यूनिवर्सिटी का ये भवन सबसे महत्वपूर्ण है, क्योंकि इसमें प्रशासनिक अधिकारी बैठते हैं । यहां से परीक्षा विभाग संचालित होता है। वित्त विभाग, एग्रीकल्चर विभाग, रजिस्ट्रार ऑफिस, वीसी व चैयरपर्सन का ऑफिस भी यही है।

इनका कहना ीक्
ये हमारा इंटरनल मामला है। रामचरित मानस का पाठ रखा था। मैं कहीं क्यों ताला लगवाऊंगा। आरोप तो लगते रहते हैं। मैं तो विधान के अनुसार काम करता हूं। विवि की चाबी, चौकीदार के पास होती है, मेरे पास नहीं। बेवजह आरोप लगा रहे हैं। कुछ लोग ऐसे हैं, जो अकारण इस तरह के काम करते रहते हैं।

महेन्द्रसिंह अगरिया, सचिव, विद्या प्रचारिणी सभा
—–

ऐसी कोई घटना नहीं हुई है। मैंने तो पुलिस को सूचना नहीं दी। मुझे इस तरह की किसी घटना की जानकारी नहीं है।
आरएस चौहान, रजिस्ट्रार, बीएन विवि

——–
मुझे इसकी कोई जानकारी नहीं है। मैं तो फिलहाल जयपुर हूं।

प्रदीपकुमार सिंह सिंगोली, चेयरपर्सन, बीएन यूनिवर्सिटी उदयपुर
——

ये घर की बात हैं, हल कर देंगे।
गजेन्द्रसिंह शक्तावत, कार्यकारिणी सदस्य, विद्या प्रचारिणी सभा

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *