नवचयनित आरएएस की मुहिम रंग लाई
गोगुंदा (उदयपुर). क्षेत्र के छाली ग्राम पंचायत के उमरिया गंाव निवासी अनाथ बालिका गीता के लिए आरएएस नव चयनितों की मुहिम जबरदस्त रंग लाई और तीन दिन में गीता की अािर्थक रूप से सहायता के लिए उसके खाते में 1 लाख 60 हजार की राशि प्राप्त हो गई। जन सहयोग की इस मुहिम ने गीता को हौसलो की नई उड़ान दी है। उसके सुखद भविष्य नींव खड़ी हो गई है वहीं जीवन में आए घोर अंधेरे में आशा की नई किरण फुट पड़ी है।
आरएएस 2018 की सूची में चयनित बाडमेर निवासी हनुमान राम बेनीवाल जो वर्तमान में जैसलमेर में कांस्टेबल के पद पर कार्यरत ने बताया कि गीता की मदद की मुहिम में कई सरकारी अधिकारी समाज जनों की ओर से गुरुवार तक मिली राशि 1 लाख 60 हजार से पार कर गई। अब इस राशि को परिवार जनों की मौजूदगी में स्थानीय कार्मिक बैंक में एफडी करवा देंगे जिससे गीता के बालिग होने के बाद उसके सुखद भविष्य के लिए काम आएगी। बेनीवाल की इस मुहिम में आरएएस टॉपर मुक्ता राव, नव चयनित कुणाल राहड़ ने अपने साथियों के साथ कदम आगे बढ़ाए तो देखते ही देखते तीन दिन में सैकड़ों किलोमीटर दूर से मदद की राशि मिलती गई। उदयपुर में लेखा सेवा में कार्यरत आरएस चयनित वर्षा शर्मा, खुश्बू शर्मा ने बालिका की पढ़ाई के लिए हर सभव मदद व गांव जाकर अन्य सुविधाएं देने की बात कही है। स्थानीय पटवारी सीपी शर्मा, आरएएस चयनित पियुष गर्ग ने भी गांव जा कर बालिका को सरकारी योजनाओं के लिए कागजात तैयार करवाए जा रहे हैं। गीता को दुबई सहित अन्य देशों से भी आर्थिक सहायता मिली है।
पत्रिका की खबर बनी सहारा
छाली के उमरिया फला में 17 सितम्बर को घर के आंगन में खेल रहे कैलाश के सांप के डसने से मौत होने के बाद पिता मालु आहत हो गया परिवार में लगातार हो रही मौतें और केवल मृतक कैलाश व गीता के सहारे ही जीवन जी रहा मालु ने दुखी हो कर दूसरे दिन फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पत्रिका में 19 सितम्बर के अंक में माता पिता, भाई फिर पत्नी, की मौत अब बेटे को सांप ने डसा, पिता ने लगाई फांसी शीर्षक से खबर प्रकाशित कर परिवार में बची गीता के दुख को बताया था जिसके बाद आरएएस के सोशल मीडिया ग्रुप में सक्रिय सदस्यों ने मदद की मुहिम चलाई।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *